ज़रूरी है कोलोन की सफाई, होते हैं कई फायदे, इन नेचुरल तरीकों से करें क्लिंज
स्वास्थ्य

ज़रूरी है कोलोन की सफाई, होते हैं कई फायदे, इन नेचुरल तरीकों से करें क्लिंज

Benefits of colon cleansing: कुछ लोगों का पेट कई दिनों तक अच्छी तरह से साफ नहीं हो पाता है. इससे पेट फूला हुआ नजर आता है. गैस की समस्या परेशान करती है. लगातार कब्ज होने के कारण बड़ी आंत साफ नहीं हो पाती है. स्टूल हार्ड होने पर पेट साफ होने में परेशानी होती है. इससे कोलोन पर दबाव पड़ता है. ऐसे में बाउल या कोलोन को क्लिंज करना बहुत ज़रूरी होता है, ताकि आपका शरीर डिटॉक्सिफाई हो सके, व्यर्थ पदार्थ शरीर से बाहर निकल सके. कोलोन को साफ आप कई तरीके से कर सकते हैं. इनके जरिए स्टूल या मल मुलायम होते हैं और आसानी से बाहर निकल जाते हैं. इससे बाउल मूवमेंट्स भी सही तरीके से होता है और डाइजेस्टिव सिस्टम भी सही तरीके से अपना काम कर पाता है. आइए जानते हैं कोलोन क्लिंजिंग के फायदे क्या होते हैं और किन-किन नेचुरल तरीकों से आप इसकी साफ-सफाई कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: Bowel Cancer: घातक हो सकता है बाउल कैंसर के इन 12 लक्षणों को नजरअंदाज करना, जानें कारण, इलाज

कोलोन क्लिंजिंग के फायदे
शारदा हॉस्पिटल (ग्रेटर नोएडा) के सीनियर रेजिडेंट, इंटरनल मेडिसिन डॉ. श्रेय श्रीवास्तव कहते हैं कि कोलोन लार्ज इंटेस्टाइन यानी बड़ी आंत का सबसे बड़ा हिस्सा होता है. कोलोन को क्लिंज करने के लिए आजकल कई तरह की थेरेपीज भी इस्तेमाल की जाने लगी हैं, जिन्हें कोलोन थेरेपी, क्लोन क्लीनिंग थेरेपी, कोलोन हाइड्रो थेरेपी आदि कहते हैं. मेडिकल प्रक्रिया में कोलोन को एनिमा लगाकर साफ किया जाता है. इससे आंतों की अच्छी तरह से सफाई हो जाती है. यह बेहद ही पुरानी प्रक्रिया है.

डॉ. श्रेय श्रीवास्तव कहते हैं कि बात करें कोलोन क्लिंजिंग के फायदों की, तो इसका सबसे बड़ा फायदा ये है कि यह डाइजेशन को सुधारती है. शरीर में जो व्यर्थ पदार्थ, टॉक्सिंस होते हैं, उन्हें बाहर निकालती है. ये टॉक्सिन्स यदि शरीर से बाहर ना निकाले गए, तो कई अन्य बीमारियों को जन्म दे सकते हैं. कुछ अन्य स्टडीज में ये बात भी सामने आई है कि कोलोन क्लिंजिंग वजन कम करने में भी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. इसके अलावा, जिन लोगों को रात में अच्छी नींद नहीं आती है, उन्हें कोलोन थेरेपी से नींद अच्छी आती है. साथ ही, कब्ज की समस्या से व्यक्ति को छुटकारा मिलता है. कोलोन कैंसर के जोखिम को कम करती है.

इसे भी पढ़ें: क्या है कोलोन क्लीनिंग थेरेपी? जानें इसके फायदे और नुकसान

कोलोन क्लिंजिंग ना करने के नुकसान
डॉ. श्रेय आगे बताते हैं कि यदि कोलोन या बड़ी आंत की साफ-सफाई अच्छी तरह से ना हो, तो हम जो भी मिनरल्स, विटामिंस भोजन के जरिए ग्रहण करते हैं, वे शरीर में सही तरीके से एब्जॉर्ब नहीं होंगे. इससे इन ज़रूरी पोषक तत्वों की कमी शरीर में होने लगती है. यदि कोलोन लंबे समय तक साफ नहीं होता है, तो इससे संबंधित कई अन्य बीमारियों के होने का खतरा भी बढ़ जाता है. यदि आपको लगातार कब्ज रहता है और आप इस समस्या को लगातार इग्नोर करते रहते हैं, तो यह कोलोन कैंसर होने के जोखिम को भी बढ़ा सकता है. ऐसे में बेहद ज़रूरी है कि आप कोलोन या बड़ी आंतों की सफाई अच्छी तरह से करने के उपायों को अपनाएं.

कोलोन को साफ करने के लिए प्राकृतिक तरीके
– प्रतिदिन 2 से 3 लीटर पानी ज़रूर पीना चाहिए. खासकर, सुबह और रात के समय सोने से पहले गुनगुना  पानी पीना चाहिए. नेचुरल तरीके से कोलोन को साफ करने का यह बेहद आसान फॉर्मूला है.
– डाइट में अधिक मात्रा में फाइबर से भरपूर फूड्स को शामिल करने से कब्ज की समस्या नहीं होती है.  -इसमें प्लांट बेस्ड फूड्स, सब्जियां, फल खाएं. जूस पीते हैं, तो गूदे को ना निकालें.
– कुछ हर्बल टी के सेवन से कोलोन को साफ करने में मदद मिलती है.
– प्रोबायोटिक्स में आप दही, सेब का सिरका ले सकते हैं. ओमेगा 3 से भरपूर फूड्स खाएं.
– सुबह के समय गुनगुने पानी में शहद और नींबू पानी में शहद मिलाकर पी सकते हैं.
– जूस में आप सेब का जूस, एलोवेरा जूस आदि सेवन कर सकते हैं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.