रोजमर्रा की जिंदगी में ऐसी कुछ चीजें हैं जिनका ध्यान रखा जाए तो कई सारे फायदे शरीर को हो सकते हैं. ऐसा ही एक उदाहरण है जमीन पर पीठ के बल लेटना.
स्वास्थ्य

जमीन पर पीठ के बल लेटने से होते हैं ये 8 फायदे, आज ही जान लें

सेहत के लिए व्यायाम (Exercise) को जीवन का बहुत जरूरी हिस्सा माना जाता है. कई सारे हल्के व्यायाम हैं जिन्हें रोज करके स्वस्थ रहने की दिशा में काम किया जा सकता है. रोजमर्रा की जिंदगी में ऐसी कुछ चीजें हैं जिनका ध्यान रखा जाए तो कई सारे फायदे शरीर को हो सकते हैं. ऐसा ही एक उदाहरण है जमीन पर पीठ के बल लेटना. इस सरल गतिविधि में बहुत कम ऊर्जा की जरूरत होती है लेकिन यह कई सारे लाभ देती है. यह शरीर की मुद्रा यानी बॉडी पॉश्चर बनाए रखने में भी मददगार है. इसलिए इस अभ्यास को बुजुर्गों के लिए भी अच्छा माना गया है, खासकर जिन्हें पीठ से जुड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

व्यायाम का यह प्रकार वास्तव में योग का हिस्सा है. जिन्हें पीठ में छोटी-मोटी परेशानी हो या मांसपेशियों में दिक्कतें हो, उन्हें इस तरह के अभ्यास से तेजी से फायदा हो सकता है.

इसके लिए व्यक्ति को सबसे पहले जमीन पर बैठना होगा और उसके बाद सावधानीपूर्वक पीठ के बल लेटना होगा. इस बात का ख्याल रखें कि सतह सपाट होनी चाहिए. इस गतिविधि को करते समय किसी तरह की चोट से बचने के लिए पैरों को फैलाकर अभ्यास करें. बेहतर होगा कि पहले बाजुओं और पैरों को फैलाएं. इस प्रक्रिया को धीरे-धीरे करने से कई तर​ह के जोखिम को खत्म किया जा सकता है.हड्डी से जुड़ी नहीं होती समस्या

myUpchar के अनुसार, पीठ के बल जमीन पर सोना हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है. जमीन पर सोने से शरीर को कुदरती लाभ मिलते हैं और किसी भी प्रकार की हड्डी से जुड़ी समस्या नहीं होती.

बेहतर पोश्चर में करता है मदद

शरीर के सही पॉश्चर बनाए रखना स्वास्थ्य के लिहाज से जरूरी है. ऐसे में जमीन पर लेटना बच्चों और बड़ों-बूढ़ों सबके लिए अच्छा होता है। यह सही मुद्रा बनाए रखने में मदद करता है.

स्वस्थ रहेगी रीढ़

रीढ़ शरीर का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है. रीढ़ की हड्डी केंद्रीय तंत्रिका तंत्र यानी सेंट्रल नर्वस सिस्टम से जुड़ी होती है. इसका सीधा संपर्क मस्तिष्क से है. जमीन पर लेटने से रीढ़ की हड्डी स्वस्थ रहती है और इसके अकड़ने की आशंका कम होती है.

स्वस्थ मांसपेशियां

इस गतिविधि को करना मांसपेशियों के स्वास्थ्य के लिए बेहतर है. यह मांसपेशी को सही जगह पर बनाए रखने में मदद करता है. इस गतिविधि को करने से मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं के जल्द ठीक होने की संभावना रहती है.

दर्द में राहत

जमीन पर पीठ के बल लेटने से पीठ के निचले हिस्से में हो रहे दर्द से राहत मिल सकती है. ज्यादातर बुजुर्गों को पीठ के निचले हिस्से में दर्द की समस्या होती है. ऐसे में दर्द को कम करने का यह अच्छा उपाय है.

बेहतर श्वास के लिए

जमीन पर सीधा लेटने से श्वास प्रक्रिया बेहतर होती है. इसके अलावा पीठ के बल जमीन पर सीधा लेटने से पूरे शरीर में ऑक्सीजन जाती है. यह फेफड़ों के काम में सुधार करने में भी मदद करता है.

तनाव से मुक्ति

रीलैक्सेशन और दिमाग में शांति दिलाना इसका एक अन्य लाभ है. दिनभर के थके होने के बाद या कुछ शारीरिक गतिविधि के बाद पीठ के बल जमीन पर लेटने से शरीरिक प्रणाली को आराम मिलता है और थकान दूर होती है. साथ ही यह तनाव से मुक्ति दिलाने और सकारात्मकता फैलाने का भी काम करता है.

ब्लड सर्कुलेशन में करता है सुधार

myUpchar के अनुसार, जिस तरह शरीर को ऑक्सीजन की जरूरत होती है, ठीक वैसे ही सही ब्लड सर्कुलेशन होना भी बेहद जरूरी है. इसकी मदद से शरीर के सभी अंग अच्छे से कार्य करने में सक्षम हो पाते हैं. अगर यह सही तरीके से काम नहीं करेगा तो इसका सेहत पर बुरा असर पड़ेगा. पीठ के बल सोना ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करने में मदद करता है, जिसके कारण अंग अच्छे से काम कर पाते हैं.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, कमर दर्द के लिए योगासन पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *