गर्भावस्था में नहाते समय जरा सी भी लापरवाही हो सकती है रिस्की, इन बातों का रखें ध्यान
स्वास्थ्य

गर्भावस्था में नहाते समय जरा सी भी लापरवाही हो सकती है रिस्की, इन बातों का रखें ध्यान

Benefits of Bathing during Pregnancy: प्रेग्नेंसी में महिलाओं को हर मामले में काफी संभलकर कदम उठाने पड़ते हैं. फिर चाहे खानपान की बात हो, एक्सरसाइज करनी हो, दवाओं का सेवन हो या फिर डेली रूटीन की कुछ आदतें जैसे स्नान करना. नहाने के दौरान खासतौर से गर्भवती महिलाओं को खास सावधानियां बरतने की जरूरत होती है, ताकि किसी भी तरह की कोई कॉम्प्लिकेशंस या दुर्घटना ना हो. जिस तरह नहाना हर दिन जरूरी होता है, उसी तरह प्रेग्नेंसी में भी प्रत्येक दिन नहाने से शरीर साफ-सुथरा तो रहता ही है, बॉडी रिलैक्स भी होती है. जानें, प्रेग्नेंसी में नहाने के फायदे, स्नान करने का सही तरीका और कुछ सेफ्टी टिप्स.

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत काम आ सकता है नारियल का तेल, ऐसे करें इस्तेमाल

क्या प्रेग्नेंसी में नहाना सुरक्षित है
प्रेग्नेंसी में स्नान करना जरूरी भी है और सेफ भी है. इससे कोई समस्या नहीं होती, बल्कि इस दौरान होने वाले शारीरिक बदलावों, टेंशन, स्ट्रेश, थकान को स्नान करके दूर किया जा सकता है. मॉमजंक्शन में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, गर्भवती महिलाएं हर ट्राइमेस्टर में सुरक्षित रूप से गुनगुने पानी से स्नान कर सकती हैं, जब तक कि आपको प्रेग्नेंसी से संबंधित कोई कॉम्प्लिकेशन ना हो. हालांकि, इस बात का ध्यान जरूर रखें कि शरीर के मुख्य तापमान में वृद्धि न हो, खासकर पहली तिमाही के दौरान जब बच्चे के महत्वपूर्ण अंग विकसित होने लगते हैं. स्टडी कहते हैं कि आम महिलाओं की तुलना में प्रेग्नेंट लेडी के शरीर का तापमान थोड़ा अधिक होता है. ऐसे में गर्भवास्था में हॉट बाथ लेने से बेहोशी, चक्कर आने की खतरा बढ़ सकता है. ऐसे में देख लें कि पानी बहुत अधिक गर्म ना हो.

प्रेग्नेंसी में सुरक्षित तरीके से स्नान करने के टिप्स
– लगभग 98.6°फारनहाइट गर्म पानी का प्रयोग करें. आप अपनी डॉक्टर से भी सलाह ले सकती हैं.
– गर्म पानी से 10 मिनट से ज्यादा न नहाएं.
– नहाते समय शरीर का तापमान 101°फारनहाइट से कम हो.

इसे भी पढ़ें: जानें प्रेग्नेंसी के दौर में किन कामों को करने से बचें गर्भवती महिलाएं

गर्भावस्था में किस प्रकार के स्नान सुरक्षित हैं
गर्भावस्था के दौरान, एक गर्भवती महिला को ऐसे स्नान करने के तरीके का चुनाव करना चाहिए, शारीरिक रूप से सबसे अधिक आरामदायक महसूस हो. गर्भावस्था के दौरान स्नान करने के निम्न तरीकों का आप चुनाव कर सकती हैं-

शावर: शावर के नीचे खड़े होकर नहाना अमूमन हर किसी को पसंद होता है. बाथरूम में गीजर लगा है, तो पानी को हल्का गुनगुना गर्म करके शॉवर का मजा लें.
बाथटब: आप खड़े होकर नहाने में थकान महसूस करती हैं, तो बाथटब में आराम से बैठकर स्नान करें. इससे शरीर की थकान दूर होगी, आपको रिलैक्स और आराम महसूस होगा.

बाल्टी और मग से स्नान करना: यदि आप मग से शरीर पर पानी डालकर स्नान करना पसंद करती हैं, तो इस तरीके से भी स्नान कर सकती हैं. हालांकि, बार-बार बाल्टी से पानी निकालने के लिए आपको झुकना पड़ता है, ऐसे में आप पीढ़ा या थोड़ी ऊंची चौकी पर बैठकर भी स्नान कर सकती हैं.

स्पॉन्ज बाथ: यदि आप नहाते समय खड़े नहीं होना पसंद करती हैं, आपको कमर, पेट या पैरों में हल्का दर्द है तो आप शरीर को साफ करने के लिए गीले स्पॉन्ज का उपयोग कर सकती हैं.

स्विमिंग करके स्नान करना: यदि आप पूरी तरह से फिट हैं, तो आप प्रेग्नेंसी के दौरान तैराकी करते हुए भी स्नान का मजा ले सकती हैं. गर्भावस्था में स्विमिंग करने के अपने फायदे होते हैं.

किन चीजों से करें परहेज
– सॉना बाथ ना लें
– स्टीम बाथ भी है खतरनाक
– हॉट टब बाथ ना लें

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.