World Heart Day 2020: 29 सितंबर को क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड हार्ट डे, जानें कारण और महत्व
स्वास्थ्य

क्या होता है पल्मोनरी हाइपरटेंशन, जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

आज की व्यस्तता भरी जिंदगी में मानसिक तनाव (Mental Stress) होना स्वाभाविक है. इस तनाव की वजह से शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है और इसी कारण से व्यक्ति को हाई और लो बीपी (High and Low Blood Pressure) जैसी बीमारियां घेरने लगती हैं. ज्यादा तनाव से ब्लड प्रेशर घटता-बढ़ता है, जिसे हाइपरटेंशन (Hypertension) कहा जाता है. आज के समय में यह बीमारी आम है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इसे गंभीरता से न लिया जाए. बता दें इसमें व्यक्ति की जान भी जा सकती है. पल्मोनरी हाइपरटेंशन (Pulmonary Hypertension) की समस्या के कारण व्यक्ति के फेफड़े, धमनिया और हृदय का दाईं ओर का हिस्सा प्रभावित होता है. आइए जानते हैं पल्मोनरी हाइपरटेंशन के लक्षण और इलाज के बारे में.

पल्मोनरी हाइपरटेंशन के लक्षण

myUpchar के अनुसार, पल्मोनरी हाइपरटेंशन होने पर व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ हो सकती है. सीने में दबाव पड़ने पर पसीना आ सकता है. इसके अन्य लक्षणों में भूख कम लगना, पाचन क्रिया का गड़बड़ होना, ज्यादा काम करने पर कमजोरी महसूस होना, सिरदर्द आदि समस्याएं हो सकती हैं. यदि व्यक्ति का समय रहते इलाज नहीं किया गया, तो इससे व्यक्ति की जान भी जा सकती है. पल्मोनरी हाइपरटेंशन मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं एक प्राथमिक और दूसरा माध्यमिक. हालांकि दोनों ही स्थितियों में सही उपचार की आवश्यकता होती है.क्या है हाइपरटेंशन का घरेलू उपचार

तुलसी और नीम दोनों ही हृदय के लिए गुणकारी औषधि हैं. इसके उपयोग के लिए 5 तुलसी के पत्ते या दो नीम की पत्तियों को अच्छी तरह से पीस लें. अब इसे एक गिलास पानी में घोलकर सुबह खाली पेट लें. इस उपाय को दो हफ्ते तक रोजाना करें, इससे लाभ मिलेगा.

myUpchar के अनुसार, आंवले का जूस भी दिल के लिए काफी फायदेमंद औषधि है. इसके लिए एक बड़ा चम्मच आंवले का जूस और बराबर मात्रा में शहद मिलाकर सुबह-शाम लेते रहें. इस उपाय से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या ठीक हो सकती है.

तरबूज के बीज हाइपरटेंशन की समस्या में दवा के रूप में कार्य करता है. इसके लिए तरबूज के बीज की गिरी और खसखस को अलग-अलग पीसकर बराबर मात्रा में मिला लें और एक डिब्बे में रख दें. इस मिश्रण को रोज सुबह एक चम्मच खाएं. इस उपाय से कुछ ही दिनों में फायदा मिलेगा.

हाई ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए पपीता बेहद लाभदायक है, इसलिए ऐसे लोगों को रोज खाली पेट पपीते का सेवन करना चाहिए. इससे पाचन प्रक्रिया दुरूस्त होती है और हृदय स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है.

नमक लो ब्लड प्रेशर के मराजों के लिए अच्छा होता है, लेकिन वहीं नमक हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए हानिकारक होता है, इसलिए हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को अपने आहार में नमक की मात्रा कम लेनी चाहिए.

लहसुन वास्तव में हार्ट संबंधित किसी भी समस्या के लिए वरदान के रूप में कार्य करता है. लहसुन से ब्लड प्रेशर जैसी सभी समस्याएं ठीक हो जाती हैं. इसके लिए सुबह खाली पेट लहसुन की दो कच्ची कलियां चबाकर पानी पी लें. इससे ब्लड प्रेशर की समस्या ठीक होने में मदद मिलेगी. इसके अतिरिक्त लहसुन शरीर में खून के थक्के जमने से भी रोकता है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, हाई बीपी पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *