News18 हिंदी - Hindi News
स्वास्थ्य

क्या शक्कर बढ़ाती है, डिहाइड्रेशन का चक्कर? जानें विज्ञान और हेल्थ एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं?

नई दिल्ली. दुनिया भर के तकरीबन हर देश और संस्कृति में गर्मी के मौसम में खुद को तरोताज़ा और हाइड्रेट रखने के लिए बहुत तरह के पेय पदार्थ इस्तेमाल किए जाते हैं. भारत में हमारे पास इन पेय पदार्थों की एक लंबी फ़ेहरिस्त मौजूद है, जिसमें शिकंजी, छाछ, आम पन्ना, लस्सी, सोल कड़ी, पन्नकम, मट्ठा वगैरह शामिल है. यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि इनमें से हर एक पेय में किसी न किसी तरह का तरल पदार्थ (पानी/दही/फलों के गूदे), थोड़ी मात्रा में मिठास (गुड़, ब्राउन शुगर, चीनी), मसाले (अलग-अलग तरह के मसाले!) और नमक (काला नमक, सेंधा नमक, समुद्री नमक, साधारण नमक) सही अनुपात में इस्तेमाल होते हैं.

इस तरह का हरेक पेय आपके शरीर में तरल पदार्थों का संतुलन बनाए रखने में मदद करता है. आखिरकार, हाइड्रेशन का मतलब सिर्फ़ बहुत ज़्यादा मात्रा में पानी का सेवन करना नहीं है, बल्कि पसीने और मूत्र के माध्यम से हमारे शरीर में होने वाली इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी की पूर्ति करने से भी है.

चीनी की भरमार
अब इन पारंपरिक पेय पदार्थों की तुलना, हम आजकल सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किए जा रहे पेय पदार्थों मसलन: फ़िज़्ज़ी पेय, मीठे पेय पदार्थ, बाज़ार में मिलने वाले फलों के रस, अलग-अलग स्वाद में मिलने वाला दूध आदि से करते हैं. हम इस सूची में आइसक्रीम को भी शामिल कर रहे हैं, क्योंकि हम गर्मियों में इसका भरपूर सेवन करते हैं!

परेशानी यह है कि इनमें से हरेक पेय (और आइसक्रीम भी) चीनी से भरा है. यहां तक कि जब आप ‘बिना चीनी’ (नो एडेड शुगर) के कहे जाने वाले फलों का रस भी खरीदते हैं, तब भी आप प्रति 240 मिलीलीटर रस में 20-26 ग्राम चीनी का इस्तेमाल करते हैं. उदाहरण के तौर पर, आपके फ़िज़्जी सॉफ्ट ड्रिंक से भी आपको उतनी ही चीनी मिलती है.

चीनी का सेवन करना अपने-आप में एक समस्या
वजन की समस्या और मधुमेह को अगर छोड़ भी दें, तो जब हाइड्रेशन की बात आती है; तब ज़्यादा मात्रा में चीनी का सेवन करना अपने-आप में एक समस्या है. आप देखिए, आपकी किडनी उस तंत्र का हिस्सा हैं जो आपके रक्त में मौजूद शुगर को नियंत्रित करने के लिए काम करता है. किडनी, शरीर में मौजूद अतिरिक्त शुगर को मूत्र में निकाल कर अपना काम करती है, मगर चीनी के साथ ही हम अपने कीमती इलेक्ट्रोलाइट्स और तरल पदार्थ की भी कमी कर लेते हैं.

चीनी आपको डिहाइड्रेट करती है
एक और वजह से भी चीनी आपको डिहाइड्रेट करती है, वह है परासरण या ओसमोसिस. आपने स्कूल में विज्ञान में पढ़ा ही होगा कि परासरण वह प्रक्रिया है जिसके ज़रिए एक विलायक के अणु एक अर्धपारगम्य झिल्ली से एक कम सांद्रता वाले विलयन से अधिक सांद्रित विलयन में घुल जाने की क्षमता रखते हैं. सीधे शब्दों में कहें, तो पानी सांद्र विलयनों की ओर बढ़ता है, ताकि उसमें जो कुछ भी घुला हुआ है वह और भी अच्छे से घुल जाए. अब सोचिए कि जब आपका ब्लड शुगर बढ़ जाता है, तो आपके शरीर में क्या होता है. आपके ब्लड शुगर की सांद्रता को कम करने के चक्कर में, पानी कोशिका झिल्ली के माध्यम से और आपके शरीर में बह रहे रक्त के प्रवाह में चला जाता है.

‘हाइड्रेटिंग ड्रिंक’ सोच-समझ कर लें
जैसे ही कोशिकाएं पानी की कमी महसूस करती हैं, वे मस्तिष्क को पानी के सेवन करने का संकेत देती हैं. ऐसे में मस्तिष्क तुरंत पानी के घूंट लेने की इच्छा ज़ाहिर करता है. सोचिए तब क्या होगा, जब आप जो पी रहे हैं उसमें चीनी की मात्रा बहुत ज़्यादा है? आप इसका मुकाबला करके नियंत्रित करने के बजाय, बढ़े हुए ब्लड शुगर और हाइड्रेशन की समस्या में फँस जाते हैं.

इसीलिए जब अगली बार ‘हाइड्रेटिंग ड्रिंक’ खरीदने के लिए के लिए पहुंचें, तो उसके लेबल पर चीनी की मात्रा जांच लें. अगर आप एक स्पोर्ट्स ड्रिंक खरीदने जा रहे हैं, तो कैफ़ीन की भी जांच करें, क्योंकि यह भी आपको बार-बार मूत्र त्याग करने के लिए मज़बूर करता है.

क्या पीना चाहिए
ऐसी परिस्थिति में आप क्या पी सकते हैं? गर्मियों के पारंपरिक पेय पदार्थों की तरह ही हमारे शरीर को कुछ ऐसा चाहिए जो तरल पदार्थ और इलेक्ट्रोलाइट्स दोनों की ही पूर्ति कर दे. और जब भरोसे की बात आती है, तो ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशंस से बेहतर कुछ नहीं है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वर्षों से रिहाइड्रेशन के सूत्र को प्रतिपादित और सिद्ध करने के अनुसंधान में अपना बहुत समय दिया है: नमक, खनिज और इलेक्ट्रोलाइट्स का सही अनुपात हमारे शरीर को डिहाइड्रेशन से उबारने के लिए बेहद ज़रूरी हैं.

भरोसेमंद इलेक्ट्रॉल
हम भारतीय बहुत ही खुशकिस्मत हैं क्योंकि हमें साल 1972 में ही यह जीवन रक्षक और भरोसेमंद हाइड्रेटिंग फॉर्मूला मिल गया. वह भी भरोसेमंद इलेक्ट्रॉल के रूप में, जो हम सभी अपने घरो में खूब इस्तेमाल करते हैं. यह वही इलेक्ट्रॉल है जिस पर आपकी माँ ने तब भरोसा किया था, जब आपको दस्त, उल्टी या यहाँ तक कि तेज़ बुखार हुआ था. यह वही है जिस पर आपका पूरा परिवार भरोसा करता है, और यह डॉक्टरों द्वारा सुझाया गया नंबर वन डब्लयूएचओ ओआरएस (WHO ORS) है. इलेक्ट्रॉल अब रेडी-टू-ड्रिंक टेट्रापैक में भी उपलब्ध है.

चीनी वाले और फ़िज़्ज़ी पेय इस्तेमाल न करें
हमारा सुझाव है कि आप चीनी वाले और फ़िज़्ज़ी पेय इस्तेमाल न करें. साथ ही हम आपको सुझाव देना चाहते हैं कि आप अधिक पानी पिएं और पौष्टिक भोजन करें जो आपके शरीर में प्राकृतिक रूप से इलेक्ट्रोलाइट्स की पूर्ति करने में मदद करें. साथ ही, आप अपनी प्यास के प्रति पहले से ज़्यादा जागरूक बनें और अगर आप खुद को डिहाइड्रेटेड पाते हैं, तो एक मीठा पेय पीने का मोह छोड़ें. इसके बजाय आप उसे चुनें जो आपके शरीर के लिए बेहतर काम करता है: इलेक्ट्रॉल डब्ल्यूएचओ से भी अनुमोदित है और 245 mOsmol/L की ऑस्मोलैरिटी के साथ आता है, और यह आपके शरीर के रिहाइड्रेशन के लिए ज़रूरी है!

Tags: Dehydration, Health, Health tips, Hydrationforhealth, Sugar

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.