क्या पर्याप्त नींद लेने से वजन होता है तेजी से कम, जानें यहां – News18 हिंदी
स्वास्थ्य

क्या पर्याप्त नींद लेने से वजन होता है तेजी से कम, जानें यहां – News18 हिंदी

Sleeping Benefits for Weight Loss: शारीरिक और मानसिक रूप से फिट और हेल्दी रहने के लिए प्रत्येक दिन 7-8 घंटे की नींद (Sleep) लेनी जरूरी है. भरपूर सोने से सेहत पर अनगिनत लाभ होते हैं और उन्हीं फायदों में से एक है वेट लॉस. जी हां, यदि आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं, तो पर्याप्त सोना भी उतना ही महत्वपूर्ण है, जितना की प्रॉपर डाइट लेना, एक्सरसाइज करना. लेकिन, आज की लाइफस्टाइल रूटीन में अधिकतर लोग 6 घंटे की भी नींद नहीं ले रहे हैं. सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेशन (CDC) के अनुसार, अमेरिका में रहने वाले लगभग 35 प्रतिशत वयस्क 7 घंटे से भी कम सोते हैं. सात घंटे से कम सोने को शॉर्ट स्लीप (Short Sleep) माना जाता है. कई ऐसे तथ्य हैं, जिससे पता चलता है कि उन लोगों को वजन कम करने में मुश्किल होती है, जो पर्याप्त नींद (sleep and weight loss) नहीं लेते हैं.

कम सोने के नुकसान

प्रतिदिन आप 6 घंटे से भी कम सोते हैं, तो इससे इर्रिटेशन, मूड स्विंग्स, थकान, आलस, लो एनर्जी लेवल, डाइजेस्टिव सिस्टम से संबंधित समस्या हो सकती है. साथ ही वजन कम करना भी मुश्किल हो सकता है.

यह भी पढ़ें: हमारे लिए अच्छी नींद क्यों जरूरी है, जानिए इसके अच्छे फायदे

कम सोने से भूख बढ़ती है

पिंकविला की खबर के अनुसार, आप जितना कम सोएंगे, उतनी ही अधिक आपको भूख लगेगी. जो लोग पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, वे पर्याप्त नींद लेने वालों की तुलना में अधिक खाते हैं. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि नींद भूख बढ़ाने-घटाने वाले दो महत्वपूर्ण हार्मोंस घ्रेलिन (Ghrelin) और लेप्टिन (Leptin) को प्रभावित करती है. घ्रेलिन मस्तिष्क में भूख लगने का संकेत देता है, जबकि फैट कोशिकाओं से निकलने वाला लेप्टिन हार्मोन भूख को दबाता है और मस्तिष्क में परिपूर्णता का संकेत देता है. ऐसे में जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो शरीर घ्रेलिन अधिक बनाता है और लेप्टिन का निर्माण कम करता है. इससे आपको भूख महसूस होती है और आप अधिक खाने लगते हैं.

यह भी पढ़ें: वेट लॉस के लिए खाते हैं इन फलों को तो कम होने की बजाए बढ़ सकता है वजन

कम सोने से कैलोरी लेते हैं अधिक

जो लोग कम सोते हैं, वे कैलोरी का सेवन अधिक करते हैं. ऐसा भूख बढ़ने के कारण होता है, जिससे आप अपनी भूख को शांत करने के लिए कुछ भी उल्टा-सीधा खाने लगते हैं. चूंकि, समय पर आप सोते नहीं तो भूख लगने के कारण छोटे-छोटे अनहेल्दी स्नैक्स लेते हैं, जिससे वजन कम नहीं होता है.

कम सोएंगे तो मेटाबॉलिज्म होगा प्रभावित

जब आप सोते हैं , तो कैलोरी बर्न होती है. रेस्टिंग मेटाबॉलिक रेट सोते समय आपके द्वारा बर्न की जाने वाली कैलोरी की संख्या है. यह उम्र, मसल मास, वजन, ऊंचाई, लिंग से प्रभावित होती है. जब आप काम सोते हैं, तो इससे भी रेस्टिंग मेटाबॉलिक रेट कम होती है.

कम सोने से बढ़ता है मोटापा

यदि आप 7 घंटे से कम सोते हैं, तो बॉडी मास इंडेक्स (BMI) और वजन अधिक बढ़ने लगता है. दूसरों की तुलना में जो लोग 7 घंटे से कम सोते हैं, उनका वजन अधिक बढ़ता है. वजन कम करना चाहते हैं, तो सोने-उठने का रूटीन बनाएं. जब आप सात से आठ घंटे प्रतिदिन सोएंगे, तो इससे शारीरिक और मानसिक रूप से आराम महसूस होगा.

पर्याप्त सोने के फायदे

  • अच्छी और गहरी नींद लेने से दिमाग रिलैक्स होता है.
  • मूड फ्रेश होता है. आलस दूर होता है, काम में ध्यान लगता है.
  • हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या नहीं होती है.
  • 7-8 घंटे सोने से सारा दिन एनर्जेटिक बने रहते हैं.
  • तनाव, चिंता जैसी मानसिक समस्याएं नहीं होती हैं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.