क्या खसखस खाने से वजन होता है कम? जानें इसमें मौजूद पोषक तत्व और फायदे
स्वास्थ्य

क्या खसखस खाने से वजन होता है कम? जानें इसमें मौजूद पोषक तत्व और फायदे

Khus Khus Benefits: क्या आपने कभी वजन कम करने के लिए खसखस का सेवन किया है. यदि नहीं किया है, तो इसे जरूर डाइट में शामिल करें. खसखस छोटे तिलहन होते हैं, जो पॉपी नामक पौधे से प्राप्त होते हैं. पॉपी सीड्स या खसखस दुनिया भर में विभिन्न किस्मों में उपलब्ध होता है. नीले और सफेद दो तरह के खसखस होते हैं. भारत में सबसे कॉमन किस्म का खसखस है सफेद खसखस, जिसे इंडियन पॉपी सीड्स कहा जाता है. इस छोटे-छोटे खसखस के दानों में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो सेहत को ढेरों लाभ पहुंचाते हैं. खसखस का सेवन वे लोग जरूर करें, जिनका वजन बढ़ रहा है. आइए जानते हैं, खसखस में मौजूद पोषक तत्व और इसके फायदों के बारे में.

खसखस में मौजूद पोषक तत्व
खसखस में प्रोटीन, फाइबर, ऊर्जा, कोर्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम, जिंक, विटामिन बी6, ओमेगा-6 फैटी एसिड, मैग्नीशियम, प्रोटीन आदि पोषक तत्व मौजूग होते हैं. हृदय, पाचन तंत्र, बाल, त्वचा, अनिद्रा, डायबिटीज, हड्डी और तंत्रिका संबंधी समस्याओं सहित कई बीमारियों को दूर करने में कारगर है.

इसे भी पढ़ें: इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग बनाता है खसखस, शरीर को होते हैं ये बड़े फायदे

खसखस के सेहत लाभ

खसखस वजन करे कम
बीबॉडीवाइज में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, खसखस में मौजूद जिंक थायरॉयड ग्रंथियों के कार्य को सुचारू बनाए रखता है. वहीं, इसमें मौजूद मैंगनीज डायबिटीज को मैनेज करने के लिए उपयोगी है. ऐसे में वजन घटाने के लिए खसखस ​​एक अच्छा विकल्प है. ऐसे में जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, उन्हें खसखस का सेवन जरूर करना चाहिए.

महिलाओं की फर्टिलिटी को करे बूस्ट
महिलाओं में यदि फर्टिलिटी से संबंधित कोई समस्या है, तो खसखस को डाइट में शामिल करें. यह फैलोपियन ट्यूब से बलगम को हटाता है. महिला की प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है.

इसे भी पढ़ें: KhasKhas ka Halwa Recipe: गुणों से भरपूर होता है खसखस का हलवा, इन सर्दियों में ट्राई करें ईजी रेसिपी

हड्डियों की सेहत को सुधारे
खसखस या पॉपी सीड्स में कैल्शियम और कॉपर काफी अधिक होता है. यदि आपकी हड्डियां कमजोर हैं, दर्द होता है, तो खसखस खाने की सलाह दी जाती है. पॉपी सीड्स हड्डियों को मजबूत बनाता है. इसमें मौजूद मैंगनीज प्रोटीन कोलेजन के निर्माण में मदद करता है. इससे गंभीर रूप से हड्डियों के नुकसान से बचा जा सकता है.

त्वचा और बाल को रखे स्वस्थ
खसखस में एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व होता है, जो त्वचा संबंधित समस्या एग्जीमा को दूर करता है. यदि आपको त्वचा पर खुजली होती है, तो खसखस को पीसकर पाउडर बना लें. इसमें नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे स्किन पर लगाएं. इसका इस्तेमाल बालों से डैंड्रफ दूर करने के लिए भी कर सकते हैं. खसखस, व्हाइट पेपर, दही को मिलाकर पेस्ट बना लें. इसे स्कैल्प पर लगाएं. एक घंटा छोड़ने के बाद गुनगुने पानी से बालों को साफ कर लें.

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए
खसखस में बायोएक्टिव तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं, इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग बनाते हैं. कई तरह के इंफेक्शन से शरीर को बचाए रखता है. यह मजबूत एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटीफंगल गुणों, जिंक के कारण बुखार, कॉमन कोल्ड, गले में खराश और अन्य श्वसन संबंधी संक्रमणों को रोकने में बेहद प्रभावी है.

डाइजेशन सुधारे
खसखस डायटरी फाइबर से भरपूर होता है, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.