क्या इंस्टाग्राम किशोरों की जिंदगी को सुधार रहा है, फेसबुक की रिसर्च में ये बातें आई सामने
स्वास्थ्य

क्या इंस्टाग्राम किशोरों की जिंदगी को सुधार रहा है, फेसबुक की रिसर्च में ये बातें आई सामने

Teen Well-Being and Instagram: कुछ दिनों पहले वॉल स्ट्रीट जर्नल (Wall Street Journal) पर इंस्टाग्राम द्वारा युवाओं को बिगाड़ने का एक लेख सामने आया था. अब उसी पर इंस्टाग्राम की पैरेंट कंपनी फेसबुक ने जवाब देते हुए कई तरह की बातों को सामने रखा है. फेसबुक (Facebook) की मानें तो ज्यादातर लोगों का मानना है कि इंस्टाग्राम ने उनके जीवन को अच्छा बनाया है. इंस्टाग्राम से उन्हें कई तरह की चीजें सीखने को मिली हैं. फेसबुक का कहना है कि इंस्टाग्राम किशोरों को अच्छा बनाने में मदद कर रही है. जर्नल के अनुसार 12 में से 11 गंभीर क्षेत्र जैसे अकेलापन, चिंता, उदासी और खाने के मुद्दों पर इंस्टाग्राम किशोरों पर बुरा असर डाल रही है. लेकिन अधिकतर युवतियों का कहना है कि आज के समय में वह इन मुद्दों से जूझ रही हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इंस्टाग्राम ने उन कठिन समय को बेहतर बना दिया है. युवतियों का यह भी मानना है कि इंस्टाग्राम ने उनकी इमेज को बिगाड़ने की जगह सुधारा है. जबकि वॉल स्ट्रीट जर्नल ने दावा किया था कि इंस्टाग्राम के चलते कई किशोरियों की छवि खराब हुई है.

प्यू इंटरनेट सर्वे के अनुसार अधिकांश किशोर पॉजिटिव रिजल्ट के लिए सोशल मीडिया को श्रेय देते हैं. जैसे कि 81% ने कहा कि इंस्टाग्राम उन्हें कनेक्ट करने में मदद करता है, जबकि कुछ ने इसके नकारात्मक प्रभावों की ओर भी इशारा किया है. जैसे कि 43% ने कहा कि उन्हें इंस्टाग्राम पर ऐसी चीजें पोस्ट करने का दबाव महसूस होता है जो उन्हें अच्छा दिखाती हैं.

इसे भी पढ़ेंः दिन में एक बार जरूर खाएं अजवाइन, कई बीमारियां रहेंगी दूर

फेसबुक ने बताया कि उनका आंतरिक शोध इंस्टाग्राम प्लेटफॉर्म पर खराब को कम करने और अच्छे को अधिक करने के प्रयास का हिस्सा है. इस रिसर्च से पता लगाया जा सकता है कि कहां सुधार किया सकता है. यही कारण है कि इंटरनल स्लाइड्स में सबसे खराब संभावित परिणाम हाइलाइट किए गए हैं. इसके लिए ऐप में कुछ बदलाव किए जा रहे हैं.

-बॉडी इमेज संबंधी समस्याओं से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए नए संसाधन पेश किए हैं और इटिंग डिस्ऑर्डर के भी कई विकल्प पेश किए गए हैं.

-इंस्टाग्राम ने आत्महत्या से संबंधित सभी ग्राफिक सामग्री को हटाने के लिए नीतियों को अपडेट किया है.

-कमजोर लोगों को आत्महत्या और आत्म-चोट से संबंधित सामग्री के संपर्क में आने से बचाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः अस्थमा के रोगी जरूर खाएं ये चीजें, अटैक से बचने के लिए ऐसा रखें अपना डाइट प्लान

-फेसबुक ने प्रतिबंधित का विकल्प लॉन्च किया है जो लोगों को प्रतिशोध के डर के बिना, खुद को बदमाशी से बचाने की अनुमति देता है.

-इंस्टाग्राम पर लोगों को प्रेरण देने वाले पोस्ट को आगे किया जाएगा और उन्हें लोगों तक पहुंचाया जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *