कोरोना वायरस के संक्रमण को रोक सकता है गाय का दूध- स्टडी
स्वास्थ्य

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोक सकता है गाय का दूध- स्टडी

Cow Milk Helps To fight with Covid Infection: महामारी के इस दौर में अपनी सेहत का ख्याल रखना सभी के बहुत जरूरी है. इसलिए डॉक्टर्स भी सलाह देते हैं कि अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी को बढ़ाने वाली डाइट लें. इसी फेहरिस्त में दूध हमारी हेल्दी डाइट का अहम हिस्सा हमेशा से रहा है. वैसे हर व्यक्ति को अपनी पंसद का दूध पीना ही अच्छा लगता है, लेकिन कुछ जानकार बताते हैं कि गाय का दूध (Cow milk) पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है. इससे हमारी इम्यूनिटी बढ़ती है, हड्डियां मजबूत होती हैं, दिमाग तेज होता है और वर्किंग कैपेसिटी यानी कार्य क्षमता भी बढ़ती है.

अब ताजा स्टडी में सामने आया है कि गाय का दूध कोरोना संक्रमण से लड़ने में भी मददगार होता है. डेली मेल में छपी न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन (University of Michigan) के रिसर्चर्स ने हालिया स्टडी में पाया है कि गाय के दूध में एक ऐसा प्रोटीन होता है, जिसमें वायरस को रोकने वाले गुण होते हैं. ये प्रोटीन किसी व्यक्ति के शरीर में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोक सकता है. इस स्टडी का निष्कर्ष ‘जर्नल ऑफ डेयरी साइंस (Journal Of Dairy Science)’ में प्रकाशित किया गया है.

स्टडी में क्या निकला?
आपको बता दें कि ज्यादातर स्तनधारियों के दूध में लैक्टोफिरेन नामक प्रोटीन पाया जाता है. रिसर्चर्स ने अपनी स्टडी के दौरान पाया कि गाय के दूध में बोवाइन लैक्टोफेरिन (bovine lactoferrin) नाम का प्रोटीन पाया जाता है, जो कई रोगाणुओं (microbes), वायरस और अन्य रोगजनकों (pathogens) से लड़ने में सक्षम है.

यह भी पढ़ें-
Pumpkin Seeds Benefits: जानें, पुरुषों के लिए कद्दू के बीज किस तरह से होते हैं फायदेमंद

टेस्ट के दौरान पाया गया कि ये प्रोटीन सार्स कोव-2 वायरस (SARS-CoV-2 Virus) की टारगेट सेल्स यानी लक्षित कोशिकाओं (Cells) में प्रवेश करने से रोकता है, वहीं कोशिकाओं को वायरस के खिलाफ लड़ने में मदद भी करता है.

क्या कहते हैं जानकार
यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन में इंटरनल मेडिसिन डिपार्टमेंट के चीफ इन्वेस्टिगेटर जोनाथन सेक्सटन (Jonathan Sexton) ने कहा, ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल के दौरान बोवाइन लैक्टोफेरिन (bovine lactoferrin) में एंटीवायरल एक्टिविटी दिखाई दी. उदाहरण के लिए, बोवाइन लैक्टोफेरिन वाली दवाएं वायरल संक्रमण की गंभीरता को कम करने में सक्षम हैं. इनमें रोटावायरस (rotavirus) और नोरोवायरस (Norovirus) शामिल हैं.

यह भी पढ़ें-
शारीरिक कमजोरी को दूर कर तुरंत एनर्जी से भर देंगे ये 5 फूड्स, डाइट में करें शामिल

बोवाइन लैक्टोफेरिन के व्यापक एंटीवायरल प्रभाव, सुरक्षा, न्यूनतम साइड इफेक्ट और व्यावसायिक उपलब्धता (commercial availability) को देखते हुए, कई रिसर्च पेपर्स में सार्स कोव-2 संक्रमण (SARS-CoV-2 infection) के इलाज या बीमारी के बाद देखभाल में उसके इस्तेमाल की सलाह दी गई है.

Tags: Coronavirus, Health News, Lifestyle, Milk

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.