कैल्शियम की कमी से हो सकती हैं ये बीमारियां, करें इनका सेवन
स्वास्थ्य

कैल्शियम की कमी से हो सकती हैं ये बीमारियां, करें इनका सेवन | health – News in Hindi

कैल्शियम (Calcium) शरीर के लिए बेहद जरूरी है. यह हड्डियों (Bones) को मजबूत बनाता है. इसके अलावा यह बच्‍चों के शुरुआती विकास और मांसपेशियों (Muscles) को मजबूत बनाने में भी मददगार होता है. शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर बोन्स कमजोर होने लगती हैं और इसकी कमी से नाखून भी कमजोर हो जाते हैं. इसकी कमी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं (Health Problems) को जन्म दे सकती है. डेयरी फूड्स कैल्शियम के अच्‍छे स्रोत हैं. इसके अलावा कई अन्‍य चीजों में भी यह भरपूर मात्रा में पाया जाता है. अगर आप भी कैल्शियम की कमी से जूझ रहे हैं, तो इन चीजों को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें.

आंवला- आंवला में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है. यह शरीर की इम्‍यूनिटी पावर को भी बढ़ाता है. आंवला में एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं, जो शरीर को इंफेक्शन से बचाए रखने में मददगार होता है.

ये भी पढ़ें – कोरोना वायरस से पड़ रहा पुरुषों के सेक्स हॉर्मोन्स पर असर, जानिए

कीवी- कीवी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है. इसमें विटामिन सी भी पाया जाता है. ऐसे में इसके सेवन से शरीर में कैल्शियम की कमी दूर होती है. संतरों में भी कैल्शियम काफी मात्रा में होता है. साथ ही इसमें विटामिन सी भी पाया जाता है.ड्राइ फ्रूट्स- मेवा शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर करता है. मुनक्का, किशमिश, बादाम, पिस्ता, अखरोट, तरबूज के बीज में कैल्शियम पाया जाता है. इसके अलावा अजवाइन, जीरा, हींग, लौंग, धनिया, काली मिर्च में भी कैल्शयिम होता है.

हरी सब्जियां- हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है. इसलिए पत्ता गोभी, अरबी के पत्ते, मेथी, मूली के पत्ते, पुदीना, धनिया, ककड़ी, सेम ग्वारफली, गाजर, भिंडी को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें.

ये भी पढ़ें – कोरोना रोकने में मददगार है फेस मास्‍क, 25 फीसदी कम हुए मामले

दूध से बनी चीजें- दूध तो हर कोई इस्‍तेमाल करता है. यह कैल्शियम का अच्‍छा स्रोत माना जाता है. इसके अलावा दूध से बने सभी पदार्थ, जैसे दही, छाछ, मक्खन, घी, पनीर, चीज आदि में भी भरपूर कैल्शि‍यम पाया जाता है. (Dclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *