News18 हिंदी - Hindi News
स्वास्थ्य

केवल चोट से ही नहीं, इन कारणों से भी शरीर पर बनते हैं नीले निशान

हाइलाइट्स

विटामिन सी की कमी स्किन पर नीले निशान की वजह हो सकती है.
ब्‍लड थिनर दवाओं से भी शरीर पर नीले या बैंगनी निशान बन सकते हैं.

Bruises On Body: अक्‍सर खेलने या घर में काम के दौरान चोट लगने से शरीर पर नीले और बैगनी रंग के निशान बन जाते हैं. हेल्‍थलाइन के मुताबिक, ये एक तरह की ब्‍लीडिंग है जो स्किन के अंदर वेन्‍स के फट जाने से होती है. खून स्किन के नीचे जमा हो जाता है और जम जाता है. इसे ब्रूसिंग कहा जाता है. लेकिन कई बार बिना किसी चोट के ही शरीर पर नीले निशान नजर आते हैं. हमें पता भी नहीं चलता कि आखिर ये आए कैसे. इनमें ना तो कोई दर्द होता है और ना ही किसी तरह के लक्षण.

कई बार शरीर में किसी चीज की कमी होने या किसी बीमारी का लक्षण के रूप में भी ये शरीर में नजर आने लगते हैं. आइए जानते हैं कि शरीर पर नीले निशान आखिर किन कारणों से बनते हैं.

शरीर पर नीले निशान बनने की वजह

उम्र का असर
जब हमारी उम्र बढ़ती है तो हमारी त्वचा पतली होने लगती है और त्वचा में कुछ लेयर फैट कम होने लगता है. ये परतें वेन्‍स को चोट से बचाने का काम करती हैं. लेकिन उम्र बढ़ने पर फैट घटने लगता है और हल्‍की सी चोट लगने पर भी निशान पड़ने लगते हैं.

इसे भी पढ़ें: Heart Disease: कार्डियोवस्कुलर डिजीज से बचने के लिए कैसी हो हमारी ‘खाने की थाली’

विटामिन सी की कमी
विटामिन सी स्किन में कोलेजन प्रोडक्‍शन को बढ़ाने में मदद करता है. साथ ही ये एक तरह का प्रोटीन है जो ब्लड वेसेल्स को हेल्‍दी रखता है. अगर आप अपने आहार में विटामिन सी पर्याप्‍त मात्रा में शामिल करें तो स्किन हेल्‍दी रहती है और निशान नही पड़ते. इसलिए नीले निशान पड़ने पर उन चीजों को खाएं, जिनमें पर्याप्‍त विटामिन सी हो.

विटामिन K की कमी
विटामिन K की कमी से भी शरीर पर नीले निशान आते हैं. अगर आपके शरीर में पर्याप्त विटामिन K नहीं है तो आपको अधिक घाव हो सकते हैं और ऐसे नील निशान भी स्किन पर बन सकते हैं. इससे बचने के लिए आप डाइट में हरी-पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें.

प्लेटलेट्स की कमी
जब आपके खून में पर्याप्त प्लेटलेट्स नहीं हो तो तो भी शरीर पर ये नीले निशान बनने लगते हैं. इसके लिए आप अधिक से अधिक आयरन युक्‍त और हेल्‍दी फूड का सेवन करें.

ब्लड डिसऑर्डर
अगर आपको हीमोफिलिया की समस्‍या है तो इसकी वजह से ब्लड क्लॉटिंग की समस्‍या बढ़ जाती है और इसकी वजह से शरीर पर नीले निशान पड़ने लगते हैं.

इसे भी पढ़ें: कच्ची सब्जियां दिल के मरीजों के लिए हैं बेहद लाभदायक, इन वेजिटेबल्स का नियमित करें सेवन


ब्‍लड थिनर दवाओं का इस्‍तेमाल
खून को पतला करने वाली दवाओं के इस्‍तेमाल से भी ब्‍लड वेन्‍स कमजोर होने लगती हैं और हल्‍का सा प्रेशर पड़ने पर भी ये निशान बनने लगते हैं.

Tags: Health, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.