एंग्जायटी के शुरुआती लक्षणों को पहचानकर इन फूड्स का करें सेवन, मेंटली रहेंगे फिट
स्वास्थ्य

एंग्जायटी के शुरुआती लक्षणों को पहचानकर इन फूड्स का करें सेवन, मेंटली रहेंगे फिट

Foods which reduce Anxiety: आजकल लोगों में एंग्जायटी (Anxiety) की समस्या बढ़ती जा रही है. एंग्जायटी यानी चिंता करना एक प्रकार का मेंटल हेल्थ डिसऑर्डर है, जिसमें लोग हर बात में बहुत ज्यादा चिंता करने लगते हैं या घबराए, डरे हुए नजर आने लगते हैं. अधिक चिंतित रहने से दैनिक गतिविधियों को सही तरीके से करने में भी परेशानी होने लगती है. यदि आपको एंग्जायटी की समस्या है तो आपमें कई तरह के शुरुआती लक्षण (anxiety symptoms) नजर आ सकते हैं जैसे भूख में कमी, हद से ज्यादा चिंता करना, हद से ज्यादा सोचना, घबराहट महसूस करना, उत्तेजित होना, नींद न आना, चिड़चिड़ापन, चीजों के प्रति रुचि कम होना आदि. हालांकि, इसके शुरुआती लक्षणों को पहचानकर काफी हद तक इस समस्या पर काबू पाया जा सकता है. कुछ फूड्स भी होते हैं, जो एंग्जायटी की समस्या को कम कर सकते हैं. ऐसे ही कुछ फूड्स (Foods that ease anxiety) के बारे में बता रही हैं इंडियन स्पाइनल इंजरीज (वसंत कुंज, नई दिल्ली) की सीनियर डाइटिशियन कम एफएसटीएल हिमांशी शर्मा जो एंग्जायटी को करते हैं कम.

एंग्जायटी कम करने वाले फूड्स

  • यदि आपको एंग्जायटी की समस्या है, तो आप प्रोसेस्ड, डिब्बाबंद और जंक फूड खाना बंद कर दें. इनकी तुलना में साबुत अनाज, सब्जियों और फलों से भरपूर संतुलित आहार एक स्वस्थ विकल्प है.
  • फल का सेवन जरूर करें. फलों में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो वजन कम करने के साथ एंग्जायटी की समस्या को भी दूर करता है. फलों में मौजूद पोषक तत्वों को अधिक से अधिक पाने के लिए आप इन्हें साबुत ही खाएं. शरीर में पानी की कमी ना हो, इसके लिए आप पानी पिएं.

इसे भी पढ़ें: दिन भर रहते हैं तनाव और चिंता से घिरे, 4 हर्ब्स दिलाएंगी इन मानसिक समस्याओं से छुटकारा

  • चीनी से बने मीठे पेय पदार्थ जैसे सोडा आदि भी डिप्रेशन को बढ़ाने के काम करते हैं. ऐसे में ताजा नारियल पानी, नींबू पानी, छाछ या बटर मिल्क और लस्सी पिएं.
  • ग्रीन टी, हर्बल टी में कुछ जड़ी-बूटियां होती हैं, जो चिंता को कम करने में मदद कर सकती हैं. आप ग्रीन टी पीते हैं, तो कम मात्रा में ही पिएं.
  • हल्दी में मौजूद करक्युमिन मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और चिंता विकारों को रोकने में मुख्य भूमिका निभाता है. इस पर कई अध्ययन भी किए गए हैं. हल्दी के सेहत पर कई अन्य लाभ भी होते हैं.
  • डार्कचॉकलेट खाने से भी एंग्जायटी, स्ट्रेस जैसी मानसिक परेशानियों को दूर किया जा सकता है. डार्क चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनोल्स एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं और इसे कम मात्रा में लेने की सलाह दी जाती है.
  • कुछ मेवे और बीज जैसे बादाम, अखरोट, चिया सीड्स भी अद्भुत लाभ पहुंचाते हैं.
  • खट्टे फल, शिमला मिर्च और जामुन भी प्रसंस्कृत डिब्बाबंद और जंक फूड खाने की तुलना में एक स्वस्थ विकल्प के रूप में गिना जाता है.

इसे भी पढ़ें: एंग्जाइटी और स्‍ट्रेस से हैं परेशान तो डाइट में शामिल करें ये चीजें, डिप्रेशन से होगा बचाव

  • अन्य पर्यावरणीय कारक और जीवनशैली में बदलाव लाकर और हेल्थ एक्सपर्ट से काउंसलिंग के जरिए एंग्जायटी की समस्या को जड़ से दूर करने में मदद मिलती है.
  • जल्द से जल्द एंग्जायटी, स्ट्रेस जैसी मानसिक समस्याओं को ठीक करने के लिए डॉक्टर और आहार विशेषज्ञ द्वारा दिए गए जरूरी मार्गदर्शन को हमेशा ध्यान में रखें.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.