इन 4 शारीरिक समस्याओं में छाछ पीना हो सकता है नुकसानदायक, कहीं आपको तो नहीं ये बीमारियां?
स्वास्थ्य

इन 4 शारीरिक समस्याओं में छाछ पीना हो सकता है नुकसानदायक, कहीं आपको तो नहीं ये बीमारियां?

Side Effects of Buttermilk: भीषण गर्मी में एक्सपर्ट तरल पदार्थ खूब पीने की सलाह देते हैं, ताकि शरीर में पानी की कमी ना हो. इसके लिए लोग पानी, नींबू पानी, नारियल पानी, फलों का जूस, गन्ने का रस, आम पन्ना, लस्सी और छाछ का सबसे अधिक सेवन करते हैं. हालांकि, कुछ चीजों का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए. बात करें, छाछ की तो यह एक हेल्दी ड्रिंक है, लेकिन इसका सेवन कुछ शारीरिक समस्याओं में कम ही करना चाहिए. छाछ दही से तैयार की जाती है, जो कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है, जैसे ऐसिडिटी की समस्या से निजात दिलाती है. पेट की सेहत को दुरुस्त रखती है. छाछ पीने से भोजन जल्दी पचता है. पेट को ठंडा रखती है. इतने फायदे होने के बाद भी कुछ शारीरिक समस्याओं में छाछ पीने से बचना चाहिए.

छाछ में मौजूद पोषक तत्व
छाछ में कार्बोहाइड्रेट, कई तरह के विटामिन्स, प्रोटीन, पोटैशियम, फॉस्फोरस, गुड बैक्टीरिया, लैक्टिक एसिड, कैल्शियम आदि मौजूद होते हैं, जो संपूर्ण सेहत को किसी ना किसी रूप में लाभ पहुंचाते हैं. पर कुछ रोगों के होने पर छाछ पीने से बचना चाहिए वरना समस्या के लक्षण अधिक बढ़ सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: Buttermilk Benefits: गर्मियों में इस तरह बनाकर पिएं छाछ, सेहत को मिलेंगे कई फायदे

अधिक छाछ पीने के नुकसान

बटर मिल्क के फायदे कई हैं, तो इसके कुछ नुकसान भी होते हैं. बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि सभी को पसंद आने वाला यह कूलिंग ड्रिंक कुछ साइड इफेक्ट भी पैदा कर सकता है. यदि आप भी प्रतिदिन छाछ पीते हैं, तो आप इस पेय के कुछ नकारात्मक प्रभावों को भी जरूर जान लें:

  • छाछ में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो किडनी रोग से ग्रस्त लोगों के लिए इसका अधिक सेवन ठीक नहीं है. अगर आप किडनी की बीमारी से पीड़ित हैं, तो इसे पीने से बचें.
  • यदि आपको सर्दी-जुकाम है, तो छाछ पीने से ये और भी अधिक बढ़ सकती है. बुखार, सर्दी और पराग या पोलन एलर्जी के दौरान रात में छाछ पीने की सलाह नहीं दी जाती है.
  • मक्खन निकालने के लिए दही को मथने की प्रक्रिया में काफी समय लगता है. इससे बैक्टीरिया का विकास होता है, जो बच्चों के लिए हानिकारक हो सकता है. ये बैक्टीरिया बच्चों में सर्दी और गले के संक्रमण का कारण बन सकते हैं.
  • जिन लोगों को एग्जिमा की समस्या होती है, उन्हें भी छाछ का सेवन अधिक नहीं करना चाहिए. इससे त्वचा पर जलन, खुजली की समस्या तीव्र हो सकती है.

इसे भी पढ़ें: Health News: सर्दी में छाछ पीने से इम्यूनिटी होती है बूस्ट, जानिए और भी कई फायदे

छाछ पीने के फायदे

  • गर्मी के मौसम में छाछ पीने से पेट की समस्या नहीं होती हैं. पाचन तंत्र दुरुस्त बना रहता है.
  • छाछ में पानी की मात्रा अधिक होती है, जिससे शरीर में पानी की कमी नहीं होती है और आप डिहाइड्रेशन से बचे रहते हैं.
  • छाछ में विटामिन डी, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स होता है, जो हड्डियों, दांतों को स्वस्थ रखते हैं. इससे एनीमिया भी दूर हो सकता है.
  • छाछ पीकर शरीर को डिटॉक्स किया जा सकता है. लिवर अपना कार्य सही तरीके से करता है.
  • यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है, तो छाछ पीने से रक्तचाप नॉर्मल हो सकता है.
  • जिन लोगों को कब्ज की समस्या रहती है, वे भी छाछ पिएंगे तो पेट अच्छी तरह से साफ होगा.
  • हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए भी छाछ पी सकते हैं.
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने के लिए भी आप छाछ का सेवन कर सकते हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.