इन सात आहार को खाने से बढ़ता है ब्रेस्ट मिल्क, शिशु रहता है स्वस्थ
स्वास्थ्य

इन सात आहार को खाने से बढ़ता है ब्रेस्ट मिल्क, शिशु रहता है स्वस्थ | health – News in Hindi

नवजात शिशु के लिए ब्रेस्ट मिल्क अमृत की तरह होता है.

शिशु (Child) के पैदा होने के बाद कई बार मां खुद को कमजोर व दुर्बलत महसूस करती है. वह नवजात बच्चे को पोषक तत्व (Nutrients) नहीं उपलब्ध कर पाती. ऐसे में हम आपको ऐसे खानपान के बारे में बता रहे हैं, जिनसे ब्रेस्ट मिल्क (Breast milk) बढ़ता है.



  • Last Updated:
    June 29, 2020, 7:21 PM IST

बच्चे के जन्म के बाद उसके शारीरिक विकास के लिए मां का दूध अमृत के समान होता है. मां के दूध में वो सभी पोषक तत्व होते हैं, जो एक नवजात के लिए शारीरिक विकास के लिए जरूरी होते हैं. कई बार कुछ बच्चों को मां का दूध उपलब्ध नहीं हो पाता है. जब मां का ही शरीर कमजोर हो और वह दुर्बलता महसूस करती हो तो ऐसे में नवजात बच्चे के लिए पोषक तत्व उपलब्ध हो पाना मुश्किल हो सकता है. ऐसे में मां का दूध बढ़ाने के लिए कुछ ऐसे आहार हैं, जो बच्चे और खुद मां की सेहत के लिए हितकारी हो सकते हैं. आइए इस खास खान-पान के बारे में जानते हैं…

शतावरी है बड़े काम की औषधि

मां बनने के बाद स्तन में दूध की कमी की शिकायत कई महिलाओं में होती है. ऐसी स्थिति में महिलाएं 10 ग्राम शतावरी के जड़ का चूर्ण दूध के साथ सेवन करें तो इससे काफी फायदा होता है. इसके अलावा गर्भवती महिलाओं के लिए भी शतावरी लाभकारी सिद्ध होती है. गर्भवती महिलाएं शतावरी, सोंठ, मुलैठी तथा भृंगराज को समान मात्रा में लें और इनका चूर्ण बना लें. इसे 1-2 ग्राम की मात्रा में लेकर बकरी के दूध के साथ पीएं. इससे गर्भस्थ शिशु स्वस्थ रहता है.

ब्राउन राइस से मिलते हैं पोषक तत्वmyUpchar से जुड़े डॉ. विशाल मकवाना बताते हैं कि ब्राउन राइस का सेवन करने से महिलाओं में दूध की कमी पूरी हीती है. इससे नवजात बच्चों को फायदा मिलता है. एक शोध के मुताबिक, स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए ब्राउन शुगर काफी सेहतमंद होता है. ब्रेस्ट मिल्क बढ़ने के साथ-साथ इससे पोषक तत्वों की भी पूर्ति होती है.

ये घरेलू आहार भी स्तनपान के लिए जरूर खाएं

  • ओटमील से भरपूर ऊर्जा मिलती है. इसमें फाइबर भरपूर मात्रा में होता. साथ ही यह पाचन ठीक रखने में मदद करता है. रोजाना सुबह नाश्ते में एक बाउल ओटमील खाने से दूध में बढ़ोतरी होती है.
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं को रोज सौंफ का भी सेवन करना चाहिए. दूध के कम होने पर सौंफ का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है. आप चाहें तो सौंफ वाली चाय भी पी सकती हैं.
  • मेथी दाने का सेवन करने से भी ब्रेस्ट मिल्क में बढ़ोतरी होती है. अंकुरित किए हुए मेथी दाने से ज्यादा फायदा होता है. स्वाद में ये थोड़ी कड़वी लग सकती है, लेकिन इससे ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मदद मिलती है.
  • कच्चा पपीता खाने से ब्रेस्ट मिल्क में बढ़ोतरी होती है. इसके सेवन से शरीर में ऑक्सिटॉसिन का उत्पादन बढ़ता है, जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मदद करता है.
  • लहसुन भी ब्रेस्ट मिल्क के उत्सर्जन में प्रेरक का काम करता है. एक रिसर्च के मुताबिक जिन महिलाओं ने ज्यादा लहसुन खाया है, उनके शिशुओं ने ज्यादा देर तक स्तनपान किया है.
  • myUpchar से जुड़े डॉ. विशाल मकवाना के अनुसार, काले तिल के बीज व गाजर खाना भी फायदेमंद होता है. काले तिल में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, जो ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने में मदद कर सकता है. वहीं एक गिलास गाजर का जूस पीने से भी काफी फायदा होता है. गाजर में विटामिन-ए, एल्फा और बीटा-कैरोटीन होता है.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, मां का दूध कम होने के होते हैं ये कारण पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

 

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *