आपको क्यों नहीं करनी चाहिए फेस वैक्सिंग, एक्सपर्ट ने बताई ये अहम वजह
स्वास्थ्य

आपको क्यों नहीं करनी चाहिए फेस वैक्सिंग, एक्सपर्ट ने बताई ये अहम वजह

हाल ही में महिलाओं में चेहरे के बालों को वैक्स करने का चलन बढ़ गया है. साफ और सुंदर लुक पाने के लिए महिलाएं अपने चेहरे से अनचाहे बालों को हटा देती हैं, जो आमतौर पर भौंहों (आइब्रो), गालों के कुछ हिस्से और ऊपरी होंठ के पास उगते हैं. हालांकि, हमारा चेहरा शरीर के सबसे सेंसिटिव पार्ट्स में से एक है और यहां पर बालों को वैक्स करने से फेस को नुकसान हो सकता हैं. कॉस्मेटोलॉजिस्ट डॉक्टर गीतिका मित्तल गुप्ता के अनुसार, ‘चेहरे पर वैक्सिंग करना बालों को हटाने का सही तरीका नहीं है. अगर आप अपना फेस वैक्स करते हैं, तो अभी से ऐसा करना बंद कर दें.,” डॉ गीतिका ने वैक्सिंग के जरिए फेस के बाल हटाने से होने वाले नुकसान को लेकर अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में कुछ अहम बातें बताई हैं. इसके साथ ही उन्होंने फेस पर उगने वाले बालों को लेकर कुछ टिप्स भी दिए हैं.

डॉक्टर ने चेहरे की वैक्सिंग प्रोसेस का एक वीडियो शेयर किया और बताया कि ये कितना दर्दनाक हो सकता है. डॉ गीतिका ने कहा. “मुझे नहीं पता कि कोई अपने चेहरे पर फेशियल वैक्सिंग क्यों करना चाहेगा.” उन्होंने इस वीडियो में बताया कि ये कैसे ना केवल दर्दनाक है, बल्कि इसके कुछ साइडइफैक्ट्स भी हो सकते हैं.

क्या हो सकते हैं साइडइफैक्ट
डॉ गीतिका के अनुसार, फेस वैक्सिंग की वजह से स्किन पर फफोले, चकत्ते, एलर्जिक रिएक्शन, इनग्रोइंग हेयर, स्किन पर ब्लीडिंग और वैक्सिंग से होने वाले एक्ट्रा खिंचाव से आप उम्र से पहले बूढ़ा दिख सकते हैं. वीडियो में, डॉ गीतिका ने फेस वैक्सिंग से दूर रहने का सुझाव देने के तीन कारण भी बताए.

यह भी पढ़ें-
गैस की वजह से भी होता है सिर में दर्द, इन 5 घरेलू उपायों से पाएं राहत

– हर बार जब आप इसे करते हैं तो वैक्सिंग से स्किन की एक परत निकल जाती है. ये जरूरी नहीं कि ये अपने आप में कोई परेशानी खड़े करे, लेकिन अगर आप इसे रेगुलर (15 दिन में एक बार) से कर रहे हैं, तो ज्यादा करने से आप फेस से इतना कुछ खींच लेते हैं कि आपकी स्किन जली और कच्ची हो जाती है.

– वैक्सिंग के दौरान त्वचा के अलग हो जाने के बाद, फेशल प्रोडक्ट्स को लगाना आपके लिए दर्दनाक हो सकता है.

– अगर आपकी स्किन ड्राई और सेंसिटिव है, तो वैक्सिंग अपने अपघर्षक स्वभाव (abrasive nature) के कारण उन समस्याओं को बढ़ा देगी.

यह भी पढ़ें-
गर्मियों में नहाते समय करें Bath Salt का इस्तेमाल, फायदे जानकर रह जायेंगे हैरान

क्या हो सकता है विकल्प
फेस वैक्सिंग से बचने की सलाह देते हुए , डॉ गीतिका ने बालों को हटाने के लिए सेफ प्रोसेस और ट्रीटमेंट के भी कुछ ऑप्शंस सुझाए हैं. उन्होंने कहा कि पीच फज (ठोड्डी पर निकले रोए) जैसे बाल वाले लोग डर्माप्लानिंग के लिए जा सकते हैं, जिसमें बालों को हटाने के लिए एक बढ़िया रेजर ब्लेड का यूज किया जाता है. इसके अलावा लोग लेजर ब्लीचिंग का ऑप्शन भी चुन सकते हैं, जो बालों को नहीं हटाता बल्कि उन्हें ब्लीच करता है.

Tags: Health, Health News, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.