आईवीएफ ट्रीटमेंट के जरिए मां बन रही हैं, तो जान लें कैसी होनी चाहिए आपकी डाइट
स्वास्थ्य

आईवीएफ ट्रीटमेंट के जरिए मां बन रही हैं, तो जान लें कैसी होनी चाहिए आपकी डाइट

Best Food To Eat During IVF Treatment: कुछ कपल्स शादी के कई सालों तक पेरेंट्स बनने का सुख प्राप्त नहीं कर पाते हैं. ऐसे में वे आईवीएफ (IVF) टेक्नीक के जरिए माता-पिता बनने का सपना पूरा करते हैं. महिला-पुरुषों में इनफर्टिलिटी, यूटरस में कोई समस्या, पीसीओडी, मासिक धर्म अनियमित होना, सेक्स हार्मोन्स इम्बैलेंस होना, पुरुषों में खराब स्पर्म क्लाविटी या फिर स्पर्म काउंट कम होना, फैलोपियन ट्यूब में समस्या आदि कई कारणों से संतान प्राप्ति का सुख नहीं मिल पाता है. ऐसे में लोग बच्चे के लिए आईवीएफ, आईयूआई (IUI), सेरोगेसी आदि का विकल्प चुनते हैं. आईवीएफ (IVF Treatment) में महिला के एग और पुरुष के स्पर्म को बाहर फर्टिलाइज करते हैं. जब यह भ्रूण (Embryo) बनता है, तो उसे महिला के गर्भाशय (Uterus) में ट्रांसफर कर दिया जाता है. हालांकि, नेचुरल प्रेग्नेंसी (Natural Pregnancy) की ही तरह आईवीएफ के जरिए मां बनने के दौरान भी खानपान, जीवनशैली में काफी सावधानियां बरतने की जरूरत होती है. एक हेल्दी प्रेग्नेंसी और स्वस्थ शिशु को जन्म देने के लिए डाइट मुख्य भूमिका निभाती है.

आईवीएफ ट्रीटमेंट में कैसी हो डाइट

विन्सफर्टिलिटी में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, आईवीएफ ट्रीटमेंट (IVF Treatment) के जरिए सफलतापूर्वक मां बनने के लिए हेल्दी बैलेंस डाइट लेना बहुत जरूरी है. शोध से पता चलता है कि 35 साल की महिलाओं और जिन्हें मोटापा नहीं है, उनमें मेडिटेरेनियन डाइट  (Mediterranean diet) आईवीएफ की सफलता दर को बढ़ा सकता है. ऐसे में आप मेडिटेरेनियन डाइट में ताजे फल, सब्जियां, लीन प्रोटीन, साबुत अनाज, होल ग्रेन पास्ता, क्विनोआ, बींस, सफेद चना, लो फैट डेयरी प्रोडक्ट्स, हेल्दी फैट जैसे बीज, नट्स, एवोकाडो, एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल का सेवन करें. रेड मीट, शुगर, प्रॉसेस्ड फूड्स, जंक फूड्स का सेवन ना करें. प्रॉपर डाइट लेने से एग फर्टिलाइजेशन, हेल्दी यूटरस लाइनिंग और भ्रूण का बेहतर विकास संभव है. ये सभी फूड्स मां-शिशु (Diet During & After IVF Treatment) दोनों के लिए फायदेमंद होते हैं.

इसे भी पढ़ें: IVF तकनीक के जरिए बन रही हैं मां, तो इतने दिनों में ऐसे नजर आते हैं लक्षण, बरतें सावधानियां

हरी पत्तेदार सब्जियों और फलों का करें भरपूर सेवन

आलू, हरी पत्तेदार सब्जियों, केला, पत्ता गोभी, अनाना, ब्रोकोली आदि के सेवन भरपूर करें. हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन, एंटीऑक्सीडेंट्स, फॉलिक एसिड अधिक होते हैं. आलू से शरीर में विटामिन बी, ई की कमी दूर होती है. अन्य फलों में आप अनार खा सकती हैं, जो हेल्दी न्यूट्रिएंट्स और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. अनार शरीर में खून की कमी दूर करता है. हरी पत्तेदार सब्जियों और खट्टे फलों का करें भरपूर सेवन करने से शरीर में आयरन की कमी दूर होती है. आयरन शरीर में रक्त के निर्माण के लिए भी जरूरी होता है. यह यूटरिन वॉल को हेल्दी बनाए रखता है, ताकि भ्रूण का विकास सही से हो सके. खट्टे फलों में संतरा, नींबू, मौसमी, स्ट्रॉबेरी, ग्रेपफ्रूट, अंगूर, कीवी आदि का सेवन करें.

आईवीएफ इम्प्लांटेशन के बाद डाइट टिप्स

एंब्रियो ट्रांसफर के बाद आईवीएफ मरीज को ताजे फल और सब्जियों को जरूर शामिल करना चाहिए. आप बेरीज, केला, ब्रोकली, खजूर, हरी पत्तेदार सब्जियों, चुकंदर, शकरकंद, स्प्राउट्स का सेवन करें. प्रोटीन के लिए आप अंडे, बींस, नट्स, सैल्मन, बीज, दही खाएं, क्योंकि ये उच्च फाइबर और हेल्दी ओमेगा-3 फैटी एसिड्स से भरपूर होते हैं. प्रेग्नेंसी में ओमेगा-3 और 6 फैटी से भरपूर फूड्स में अखरोट, चिया सीड्स का सेवन बेहतर होता है. इनमें फाइबर होता है, जो गर्भवास्था में होने वाली कब्ज की समस्या से बचाते हैं. अंडा खाने से शरीर को कैल्शियम, आयरन, जिंक, विटामिन ए, बी के साथ ही प्रोटीन भरपूर मिलता है. आईवीएफ के जरिए मां बनने वाली महिलाओं (Diet tips during pregnancy) के लिए अंडे का सेवन काफी हेल्दी होता है.

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी में आ रही है दिक्कत, आईवीएफ है वरदान, जानें टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक है कैसे फायदेमंद

हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं

खूब पानी पिएं ताकि शरीर डिटॉक्सिफाई होता रहे. हेल्दी लाइफस्टाइल की आदतों को फॉलो करें जैसे एक्सरसाइज करना, योग, मेडिटेशन, भरपूर सोना, शारीरिक रूप से एक्टिव रहना, खुश रहना, स्ट्रेस फ्री रहना, स्वस्थ खानपान आदि से ना सिर्फ आप एनर्जी से भरपूर महसूस करेंगी, बल्कि ये हेल्दी आईवीएफ ट्रीटमेंट के लिए जरूरी कदम भी हैं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.