अमेरिकी युवाओं का 'IQ' घटा रहा है सीसा, बचपन से संपर्क में आने से हो रहा है नुकसान: स्टडी
स्वास्थ्य

अमेरिकी युवाओं का ‘IQ’ घटा रहा है सीसा, बचपन से संपर्क में आने से हो रहा है नुकसान: स्टडी

साल 2015 में वयस्क होने वाले 17 करोड़ अमेरिकी बचपन में सीसा (Lead) के हानिकारक स्तरों के संपर्क में रहे हैं. इसकी वजह से इन लोगों के आईक्यू स्तर में 2.6 पॉइंट की गिरावट आई है. अमेरिका में 1940 से 2015 के बीच सीसे के व्यापक उपयोग को जानने के लिए हुई एक स्टडी में ये चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं. इस स्टडी के अनुसार, ब्लड टेस्ट और जनगणना के आधार पर पता चला है कि मौजूदा समय में आधे से अधिक वयस्क अमेरिकी बचपन में सीसे के सीधे संपर्क में रहे. इस आबादी के ब्लड में सीसा का स्तर 5 माइक्रोग्राम प्रति डेसीलीटर (100 मिलीलीटर) है. फ्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी (Florida State University) और ड्यूक यूनिवर्सिटी (Duke University) के साइंटिस्टों ने ये भी पाया कि 1950 और 1981 के बीच अमेरिका में पैदा हुए 90 फीसदी बच्चों के ब्लड में सीसा का लेवल अधिक था.

इस स्टडी का निष्कर्ष प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज (PNAS) द्वारा प्रकाशित किया गया है. जिसके मुताबिक, सीसे के जहर के प्रमुख कारणों में एक लेड एसिड बैटरी का असुरक्षित तरीके से री-साइक्लिंग करना है. इसके अलावा इलेक्ट्रोनिक वेस्ट, माइनिंग, मसालों में इसका इस्तेमाल, पेंट, बच्चों के खिलौने भी सीसा के अहम स्रोत हो सकते हैं.

क्या होता है आईक्यू लेवल
आईक्यू का अर्थ इंटेलिजेंट क्वेशंट (Intelligence quotient) होता है. ये आपके ब्रेन के सोचने-समझने की क्षमता पर निर्भर करता है. इसे जांचने के लिए उम्र के हिसाब से कुछ प्रश्न किए जाते हैं. प्रश्नों के जवाब के आधार पर आईक्यू लेवल को अंकों में बांट दिया जाता है.

यह भी पढ़ें-
वैक्सीन से भी हो सकेगा स्किन कैंसर से बचाव, अमेरिकी यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का दावा

आईक्यू अंक पैमाना
-70-79 बेहद खराब औसत
– 80-89 कम औसत
– 110-120 बुद्धिमान
– 130-140 बहुत बुद्धिमान
-150-170 प्रतिभावान
– 180 से अधिक बहुत प्रतिभावान

क्या कहते हैं जानकार
फ्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी (Florida State University) के प्रोफेसर और रिसर्चर माइकल मैकफारलैंड (Michael McFarland) ने कहा, नतीजे गुस्सा दिलाने वाले हैं. काफी समय पहले ही ये पता चल गया था कि सीसा हेल्थ को प्रभावित करता है. इसके बावजूद तब इसके इस्तेमाल पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम नहीं उठाए गए.

यह भी पढ़ें-
Relationship Tips: अगर नहीं चाहते हैं कि पार्टनर से बिगड़े रिश्ता तो उनके सामने न करें ये बातें

सीसा युक्त ईंधन पर लगी थी रोक
अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे (American Geological Survey) के आंकड़ों के अनुसार, रिसर्चर्स ने 1940 के दशक की शुरुआत से 1980 के दशक के अंत तक सीसा युक्त ईंधन (lead fuel) के कारण वातावरण में पड़ने वाले प्रभाव की जांच की थी. इसके बाद 1970 के दशक में वाहनों में इस्तेमाल होने वाले ऐसे फ्यूल पर स्टेप बाई स्टेप से रोक लगाने की शुरुआत की गई. 1996 में जाकर ये पूरी तरह बैन हो सका था.

Tags: Health, Lifestyle, Mental health

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.